बीजिंग. भारत के पूर्व विदेश मंत्री सलमान खुर्शीद ने जैश ए मोहम्मद के प्रमुख मसूद अजहर पर प्रतिबंध के मामले पर कहा है कि भारत को चीन से खुलकर बात करने की जरूरत है. उन्होंने यह बात चांग्शा शहर में आयोजित एक कारोबारी समारोह के दौरान कही. उन्होंने कहा कि अगर भारत मसूद अजहर पर प्रतिबंध के मामले पर संयुक्त राष्ट्र में चीन का समर्थन हासिल करना चाहता है तो उसे इस मामले पर चीन से खुलकर बात करनी चाहिए.
 
खुर्शीद ने कहा, ‘आप जब तक चीन से बात नहीं करते, तब तक आप उससे आपका साथ देने की उम्मीद नहीं कर सकते. यह खरीदारी की सूची रखने की तरह नहीं है’. उन्होंने कहा कि हमारा व्यवहार स्वार्थी नहीं हो सकता और इसके लिए हमें उदार और इच्छुक बनना पड़ेगा.
 
इससे पहले भी खुर्शीद ने पाकिस्तान जाकर नवाज शरीफ की तारीफ की थी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा था. उन्होंने कहा था कि नवाज शरीफ ने भारत के साथ संबंध सुधारने के लिए सकारात्मक कदम उठाया था. 
 
बता दें कि भारत ने पठानकोट एयरबेस हमले में मसूद का हाथ होने की बात कही थी. मसूद पर बैन लगवाने के लिए भारत संयुक्त राष्ट्र भी गया था. लेकिन चीन का समर्थन नहीं मिलने की वजह से यह प्रयास विफल हो गया था.