रियाद. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आज सऊदी अरब में दूसरा दिन है. पीएम सऊदी अरब के सुल्तान सलमान बिन अब्दुल अजीज अल सउद के आमंत्रण पर रियाद पहुंचे थे. पीएम मोदी आज प्रिंस फैजल बिन बांदर बिन अब्दुलअजीज से मुलाकात करेंगे. इस मुलाकात के दौरान दोनों देशों में तेल से लेकर आतंकवाद के मुद्दे पर कई अहम समझौते होने की उम्मीद है.  
 
सऊदी अरब के किंग के साथ लंच करेंगे मोदी 
प्रधानमंत्री मोदी सऊदी अरब के शाह से उनके शाही महल में भारतीय समयानुसार शाम 4 बजकर 15 मिनट पर मुलाकात करेंगे. दोनों नेताओं की यह मुलाकात लगभग आधा घंटा चलेगी. इसके बाद किंग सलमान बिन प्रधानमंत्री मोदी के सम्मान में लंच का आयोजन करेंगे.
 
कई मुद्दों पर होगी चर्चा
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार मोदी इस दौरान शाह सलमान के साथ आतंकवाद विरोधी व्यवस्था को विस्तत बनाने और ऊर्जा, व्यापार के क्षेत्र में निवेश बढ़ाने सहित कई मुद्दों पर चर्चा करेंगे. इससे पहले आतंकवाद विरोधी लड़ाई में बढ़ते सहयोग का संकेत देते हुए सऊदी अरब ने कुछ साल पहले मुंबई हमले के आरोपी अबू जंदल को प्रत्यर्पित किया था. 
 
प्रतिन‍िध‍ि स्तर की बातचीत के बाद होंगे समझौतों पर हस्ताक्षर 
भारतीय समयानुसार 5 बजकर 45 मिनट से दोनों देशों के बीच लगभग एक घंटे तक प्रतिन‍िध‍ि स्तर की बातचीत होगी और उसके बाद दोनों देश कई अहम समझौतों पर दस्तखत करेंगे. रात को प्रधानमंत्री सऊदी अरब के डिप्टी किंग मोहम्मद बिन सलमान से मुलाकात करेंगे और भारतीय समयानुसार रात साढ़े नौ बजे वे दिल्ली के रवाना हो जाएंगे. प्रधानमंत्री रात को 1 बजकर 20 मिनट पर दिल्ली के पालम एयरपोर्ट पहुंच जाएंगे.
 
PM ने भारतीय प्रवासी मजदूरों के साथ खाया खाना 
इससे पहले शन‍िवार को प्रधानमंत्री मोदी ने रियाद में एलएंडटी कर्मचारियों से मुलाकात की. इस दौरान उन्होंने उनके साथ खाना भी खाया. पीएम मोदी रियाद में एलएंडटी वर्कर्स के आवासीय परिसर में पहुंचे थे. पीएम मोदी ने यहां भारतीय प्रवासियों के लिए 24 घंटे काम करने वाली बहुभाषी हेल्पलाइन की घोषणा की. इसके साथ उन्होंने यह भी कहा कि प्रवास की प्रक्रिया के नियमन को लेकर एक ऑनलाइन कार्यक्रम के माध्यम से कदम उठाया जा रहा है.
 
इससे पहले न्यूक्लियर समिट में लिया हिस्सा
इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिका में न्यूक्लियर समिट में हिस्सा लिया और कई देशों के प्रमुखों से मिले. समिट में पीएम ने आतंकवाद, परमाणु हथियार जैसे मुद्दों पर भारत का पक्ष रखा. पीएम मोदी ने इस दौरान कई घोषणाएं भी की.