पेरिस. फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद ने यह हमला बेल्जियम पर नहीं यूरोप पर हुआ है. उन्होंने कहा कि आतंकियों ने ब्रसेल्स पर हमला किया है लेकिन इसके जरिये यूरोप को निशाना बनाया गया है और पूरी दुनिया इससे चिंतित है. इस बीच, बेल्जियम के तिहांज परमाणु संयंत्र से कर्मचारियों को निकाल कर उसे खाली करा लिया गया है. इसे खाली कराने का कारण तत्काल नहीं पता चल पाया है. फ्रांस की सरकार ने अपने बंदरगाहों, स्टेशनों और एयरपोर्ट की सुरक्षा और बढ़ा दी है. 
 
दूसरी ओर बेल्जियम में हुए आतंकी विस्फोटों के बाद इटली में भी सुरक्षा बढ़ा दी गई है. ब्रसेल्स से रोम के फियुमिसिनो एवं सियामपिनो एयरपोर्ट पर आने जाने वाली सभी उड़ानें रद्द कर दी गई हैं. सुरक्षा जांच में सख्ती बरती जा रही है. 
 
इस आतंकी हमले में स्लोवेनिया का एक राजनयिक भी घायल हुआ है. मध्य यूरोप के इस देश के विदेश मंत्रालय ने उसकी पहचान नहीं उजागर की है लेकिन कहा है कि वह अस्पताल में है और खतरे से बाहर है. इस बीच सीरिया ने कहा है कि ब्रसेल्स हमला यूरोपीय संघ की गलत नीतियों का परिणाम है. सीरिया के विदेश मंत्री ने यह कहते हुए इस आतंकी हमले की निंदा की है. 
 
सरकारी समाचार एजेंसी सना ने विदेश मंत्री वालिद मुओलेम के हवाले से कहा है कि यह कुछ खास मकसद को पूरा करने के लिए आतंकवाद का लाभ उठाने की गलत नीति का नतीजा है. सीरियाई विदेश मंत्रालय ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय से आग्रह किया है कि आतंकवाद के मुकाबले के लिए सारे मिल कर प्रयास करें और सीरिया में आतंकी संगठन को मिल रही सहायता को रोकें. 
 
बेल्जियम में हुए आतंकी हमले पर कांग्रेस ने शोक व्यक्त किया है. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने इस हमले की निंदा करते हुए मृतकों के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है.