इस्लामाबाद. पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज़ मुशर्रफ को देश से बाहर जाने के मामले में हरी झंडी मिल गई है. पाक सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को आदेश दिया कि वे मुशर्रफ पर लगे यात्रा प्रतिबंध को हटा दें.  इस फैसले के बाद मुशर्रफ अपने इलाज के लिए विदेश जा सकते हैं. 
 
मुशर्रफ के एक वकील फैज़ल हुसैन ने कहा, “वो कभी भी देश छोड़ सकते हैं, अब कोई भी मुश्किल नहीं है. ये डॉक्टरों और उनके बीच की बात है कि वो कब अपना इलाज करवाना चाहते हैं.” उनके वकील ने कोर्ट में कहा था कि उन्हें रीढ़ की हड्डी का तत्काल आॅपरेशन कराने की ज़रूरत है जिसका इलाज पाकिस्तान में नहीं होता.
 
क्या है मामला?
दरअसल मुशर्रफ पर अपने राष्ट्रपति कार्यकाल के दौरान इंमरजेंसी लगाने और पूर्व प्रधानमंत्री बेनजीर भुट्टो का हत्या से जुड़े होने के कारण राजद्रोह के चलते यह प्रतिबंध लगाए गए थे. जानकारी के अनुसार वर्ष 2013 में मुशर्रफ का नाम ऐग्जिट कंट्रोल लिस्ट (ईसीएल) में शामिल था जिसके अनुसार वह देश से बाहर नहीं जा सकते थे.
 
मामले में सिंध हाईकोर्ट ने पिछले साल ईसीएल हटा दिया था लेकिन सरकार ने इसके खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील दाखिल करी थी. मामले की सुनवाई हुई और मुशर्रफ पर से यह प्रतिबंध हटा दिया गया है. खबर है कि सबूतों के आधार पर उनपर फिर से प्रतिबंध लगाया जा सकता है.