बेरुत. आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएसआईएस) अपनी कैद में महिलाओं को सेक्स के बाद प्रेगनेंसी से बचाए रखने के लिए गर्भनिरोधक गोलियां देता है. रिपोर्ट्स के मुताबिक अगर आईएस आतंकियों से सेक्स के बाद महिला गलती से गर्भवती हो जाती है तो उसका गर्भपात करा दिया जाता है.
 
मां बनने वाली महिला सेक्स के लायक नहीं
रिपोर्ट के अनुसार आईएस यह धारणा रखता है कि अगर महिला मां बन जाती है तो उसके बाद वह सेक्स के लायक नहीं रह जाती. हाल ही में आईएस के चुंगल से भाग निकलीं यजीदी महिलाओं ने अमेरिका के न्यूयार्क टाइम्स अखबार को यह दर्दनाक दास्तां सुनाई.
 
यजीदी महिलाओं ने खोले कई राज
आईएस से भागकर महिला ने बताया कि उसे रोज एक लाल रंग की गोली खाने के लिए दी जाती थी. महिला को बाद में पता चला कि वह गर्भनिरोधक गोलियां थी. उसने बताया कि उसे एक बंद कमरे में रखा गया जहां सिर्फ एक बेड था और रोज शाम होते ही उसका सेक्स के लिए इस्तेमाल किया जाता था.
 
उसने यह भी बताया कि गुलाम महिलाओं को तोहफे के रूप में भी पेश किया जाता है. जानकारी के अनुसार आईएस तर्क देता है कि ऐसा पैगंबर मोहम्मद के समय में भी होता था ताकि समूहों का एकीकरण किया जा सके.