नई दिल्ली. भारतीय सुरक्षा एजेंसियों ने सरकार को यह जानकारी दी है कि चीन जल्द ही पाकिस्तान में अपनी सेना तैनात कर सकता है. एजेंसियों ने बताया है कि चीन की सेना 3 हजार किलोमीटर लंबे चीन-पाक इकोनॉमिक कॉरिडोर (सीपीईसी) की निगरानी करने वाली है.
 
एजेंसियों ने यह जानकारी दी है कि चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) कारकोरम हाईवे की सुरक्षा के लिए तैनात होगी. ये कोरिडोर पाकिस्तान के ग्वादर पोर्ट और पाकिस्तान के शिनजियांग इलाके को जोड़ने का काम करता है.  
 
भारत ने इस मामले चिंता जताते हुए कहा है कि अगर चीन ऐसा करता है तो यह भारत के लिए बड़ी समस्या होगी. हम इस मामले पर बारिकी से नजर रख रहे हैं. एक अधिकारी ने जानकारी देते हुए कहा है, ‘हमें पता है कि कितनी तादाद में पीपुल्स लिबरेशन आर्मी पाकिस्तान में तैनात होने वाली है. हम सारे डेवलपमेंट्स पर नजर रख रहे हैं’.
 
बता दें कि वर्तमान में पाकिस्तान ने 3 इंडिपेंडेंट इन्फैन्ट्री ब्रिगेड और 2 रेजिमेंट्स को इस हाईवे की सिक्युरिटी के लिए तैनात किया है.