जिनेवा. इराक में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आइएसआइएस) के कहर का नया मामला सामने आया है. महिलाओं और छोटी बच्चियों के साथ रेप किया जा रहा है और उन्हें बेचा तक जा रहा है. हालात इतने बिगड़ गए हैं कि इस नरक से बचने के लिए एक अन्य लड़की ने खुद को बदसूरत बनाने का प्रयास किया ताकि वो हवस के शिकारी उसे छोड़ दे.
 
जर्मन के डॉक्टर जे आई खिजिलान ने इराक में आइएसआइएस द्वारा गुलाम बनाकर रखी गईं जिन 1400 से अधिक यजीदी महिलाओं और लड़कियों की कहानी सुनी है. जिसमें से उन्होंने दो लड़कियों की कहानी को लोगों के सामने बयां किया है.
 
जिनेवा में उन्होंने कहा कि इन महिलाओं और लड़कियों ने नरक जैसे हालात का सामना किया है. बता दें कि खिजिलान उस परियोजना के प्रमुख हैं जिसके तहत ऎसी 1100 महिलाओं और लड़कियों के शारीरिक और मानसिक जख्म को भरने की कोशिशों के तहत उन्हें जर्मनी लाया गया है.
 
जानकारियों के अनुसार इस समय IS लोगों का नरसंहार कर रही है और हजारो लोगों को भागने पर मजबूर कर रहें हैं. धीरे-धारे वो उत्तरी इराक की तरफ बढ़ रहे हैं. और हजारों लड़कियों और महिलाओं का अपहरण करके उनको अपनी हवस का शिकार बना ने के लिए मजबूर कर रही हैं.