वेटिकन सिटी. पोप फ्रांसिस ने कहा कि संतों में भी लालच और पाप होता है. ऐसा कोई संत नहीं है, जिसका कोई अतीत न हो. संत बनने से पहले इनका भी इतिहास  आम इनसानों कि तरह ही होता है.

बता दें कि वेटिकन के सांता मार्टा होटल में पोप फ्रांसिस ने प्रवचन में कहा, ‘ईश्वर दिलों को देखता है. आम तौर पर संत इश्वर की उपासना करते-करते अपने आपको इश्वर से तुलना करना चाहते है. यहां तक कि बहुत से संत खुद भी वैसा दिखना चाहते हैं लेकिन ईश्वर सच्चाई जानता है’.