विस्कॉन्सिन. अमेरिका के विस्कॉन्सिन राज्य में एक पावर प्लांट ने 53 मुस्लिम कर्मचारियों के काम को बीच में छोड़कर नमाज़ पढ़ने पर रोक लगा दी है. कंपनी ने कहा है कि अगर किसी को नमाज़ पढ़ना है तो वो निर्धारित ब्रेक के दौरान ही ऐसा करें. कंपनी ने नमाज़ पढ़ने के लिए काम के बीच में ब्रेक पर जाने वालों को नौकरी से निकालने की धमकी दी है.
 
डेली मेल वेबसाइट पर छपी खबर के मुताबिक एरियन्स पावर प्लांट ने कहा है कि काम के बीच में नमाज़ पढ़ने जाना ठीक नहीं है इसलिए कर्मचारी प्रार्थना का काम तमाम कर्मचारियों के लिए निर्धारित लंच या दूसरी तरह के ब्रेक के दौरान ही करें. पीड़ित कर्मचारियों का कहना है कि वो लंच ब्रेक के दौरान नमाज़ नहीं पढ़ सकते क्योंकि वो समय नमाज़ का है ही नहीं.
 
नियम नहीं मानने वाले कर्मचारी को नौकरी से निकाल दिया
 
अमेरिका की इस्लामिक संबंध काउंसिल ने कंपनी से कर्मचारियों को पुराने नियम के तहत ही तब तक नमाज़ पढ़ने देने की अपील की है जब तक कि इस विवाद पर अंतिम फैसला न हो जाए. पहले की तरह नमाज़ पढ़ने के कारण नौकरी से निकाले गए इब्राहिम मोहम्मद का कहना है कि जो लंच ब्रेक के दौरान नमाज़ नहीं पढ़ रहा है उसे कंपनी निकाल रही है.
 
अमेरिका के समान अवसर रोजगार आयोग का आदेश है कि कोई कंपनी किसी कर्मचारी की धार्मिक आस्था के मामलों में हस्तक्षेप नहीं कर सकती. कंपनी के मौजूदा 53 मुस्लिम कर्मचारियों में ज्यादातर सोमालिया के हैं. इनमें 10 ने कंपनी का फरमान मानने की मंशा जाहिर की है लेकिन बाकी ने या तो रिजाइन कर दिया है या करने की तैयारी में हैं.