बेरूत. आतंकवादी संगठन आईएसआईएस ने सीरिया के पूर्वी शहर डेर इजोर पर हमला कर एक नए क्षेत्र पर कब्जा करते हुए 400 से ज्यादा नागरिकों का अपहरण कर लिया. इस हमले में 300 लोगों के मारे जाने की भी खबर भी है.
 
लंदन बेस्ड सीरियन ऑब्जर्वेटरी फॉर ह्यूमन राइट्स के मुताबिक, हमला सिक्युरिटी फोर्सेस के परिवार वालों को टारगेट कर किया गया था. रूसी वायुसेना समूह पर सितंबर से ही हमला कर रही है, वहीं अमेरिका के नेतृत्व वाला गठबंधन एक साल से अधिक समय से सीरिया में कार्रवाई कर रहा है. इसके बावजूद यह ताजा हमला हुआ है.
 
सीरिया की सरकार की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि आईएसआईएस आतंकियों ने यहां के पूर्वी शहर दीर अलजोर में 300 लोगों की हत्‍या कर दी है.
 
सीरिया की सरकारी न्‍यूज एजेंसी सना ने जानकारी दी है कि हमले में मरने वालों में ज्यादातर बुजुर्ग, महिलाएं और बच्चे हैं, जबकि विपक्षी कार्यकर्ताओं ने कहा कि मृतकों में ज्यादातर सीरियाई सैनिक और सरकार समर्थक मिलिशिया और उनके परिवार हैं. इस नई घटना को अब तक की सबसे खतरनाक घटना बताया जा रहा है. आईएसआईएस ने सीरिया और इराक के एक बड़े हिस्‍से पर अपना नियंत्रण कायम रखा है और अब तक हजारों लोगों की हत्‍या कर चुका है.
 
मॉनीटर ने कहा कि हमले में आईएस के कम से कम 42 लड़ाके मारे गए हैं. लड़ाई अब भी जारी है और सरकार समर्थित बल रूसी हवाई हमलों की मदद से खोयी जमीन फिर से हासिल करने का प्रयास कर रहे हैं. सीरिया की सरकारी संवाद एजेंसी एसएएनए ने कहा कि कम से कम 300 नागरिक मारे गए हैं. उसने इसे नरसंहार बताया.
 
यूएन ने जताई चिंता
यूएन के ह्यूमैनिटेरियन अफेयर्स को-ऑर्डिनेशन डिपार्टमेंट के मुताबिक, अल-जोर इलाके में करीब 2,00,000 लोग रह रहे हैं. सीरियन ऑब्जर्वेटरी के मुताबिक, इलाके के 60 फीसद हिस्से पर आईएसआईएस का कब्जा हो गया है.