नई दिल्ली. भूकंप का असर दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट पर भी पड़ा है और वहां पर 8 लोगों के मारे जाने की खबर है. लोग माऊंट एवरेस्ट पर चढ़ाई के लिए गये थे लेकिन वहां आये एवलांच में लोगों की मौत हो गई. माउंट एवरेस्ट पर फतह का झंडा फहराने के इरादे से आए कई पर्वतारोही इस कैंप में ठहरे हुए थे. लेकिन भूकंप के बाद आए एवलांच यानी बर्फ के सैलाब ने इस कैंप का क्या हाल किया वह आपकी नजरों के सामने है.
  
नेपाल के पर्यटन मंत्रालय ने जानकारी दी है कि एवलांच की वजह से एवरेस्ट बेस कैंप में 8 लोगों की मौत हो गई है. कुछ लोग अब भी वहां फंसे हो सकते हैं. जिनके बारे जानकारी जुटाने की कोशिश की जा रही है. खबर है कि एवलांच ने सबसे ज्यादा तबाही बेस कैंप 2 में मचाई है. बेस कैंप-1 में रुके पर्वतारोही तो सुरक्षित हैं लेकिन वहां का रास्ता पूरी तरह बर्फ में दब चुका है.
  
भारतीय सेना की 30 सदस्यों की टीम भी माउंट एवरेस्ट पर चढ़ाई के लिए गई हुई है. नेपाल में भूकंप आने के बाद काफी देर तक उनसे संपर्क नहीं हो पा रहा था. लेकिन बाद में उनसे संपर्क होने पर पता चला कि वो सभी सुरक्षित हैं और तब जाकर सबने राहत की सांस ली. आपको बता दें कि भूकंप के बाद बर्फीले पहाड़ों पर एवलांच या हिमस्खलन होने की आशंका हमेशा ही बनी रहती है…दरअसल भूकंप की वजह से पहाड़ों पर जमी बर्फ अपनी जगह से खिसकने लगती है…बर्फ का ये सैलाब अपने रास्ते में आने वाली हर चीज़ को पूरी तरह तबाह कर देता है.