काबुल. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने काबुल में अफगानिस्तान राष्ट्रपति अशरफ गनी के साथ अफगान संसद की नई इमारत का उद्घाटन किया. संसद के हॉल का नाम अटल ब्लॉक रखा गया है. भारत सरकार ने युद्ध पीड़ित अफगानिस्तान से दोस्ती और एकजुटता दिखाने के लिए इस भवन को बनाने का काम 2007 में शुरू किया था. 
 
इस भवन के निर्माण पर 4 करोड़ 50 लाख डॉलर का खर्च आना था. लेकिन, बाद में यह बढ़कर 9 करोड़ डॉलर हो गया. इस भवन का डिजाइन मुगल और आधुनिक स्थापत्य कला पर आधारित है. इसका गुंबद एशिया का सबसे बड़ा गुंबद होगा.
 
अफगानी संसद भवन को नवंबर 2011 में ही बनकर तैयार होना था, लेकिन इसे बनाने की अंतिम तिथि तीन बार बढ़ानी पड़ी.