दुबई. आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट(आईएसआईएस) का विरोध करने के लिए सऊदी अरब में  34 मुस्लिम बहुल देशों ने गठबंधन बनाने का फैसला लिया है. जानकारी के अनुसार आईएस का सामना करने के लिए अंतरराष्ट्रीय दबाव की वजह से इस गठबंधन का निर्माण किया गया है. 
 
बता दें कि इस गठबंधन में दक्षिण एशियाई, अफ्रीकी और अरब देश शामिल है, लेकिन अतंरराष्ट्रीय मुद्दों में सऊदी का विरोध करने वाला ईरान इस गठबंधन का हिस्सा नहीं है. 
 
सऊदी के रक्षा मंत्री मोहम्मद बिन सलमान ने बताया,”अभी सभी मुस्लिम देश चरमपंथ से अकेले अपनी हिम्मत पर लड़ रहे हैं इसलिए प्रयासों में समन्वय ज्यादा आवश्यक है.” उन्होंने बताया कि  नया गठबंधन इराक,सीरिया, लीबिया, मिस्र व अफगानिस्तान में चरमपंथियों के विरुद्ध लड़ेगा. हालांकि इस गठबंधन में अफगानिस्तान, इराक व सीरिया शामिल नहीं है.
 
इस गठबंधन की घोषणा पर प्रिंस मुहम्मद ने कहा है कि इस गठबंधन को जल्द से जल्द सक्रिय किया जाएगा. सऊदी इस समय इस्लामिक स्टेट के विरुद्ध इराक और सीरिया में हवाई हमले कर रहे अमेरिकी नेतृत्व वाले गठबंधन में भी शामिल है.