न्यूयॉर्क. जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल को टाइम मैगजीन ने 2015 का टाइम पर्सन ऑफ द इयर चुना है. मर्केल को इस साल तीन-तीन बार अदम्य राजनीतिक साहस के साथ यूरोप को बचाने और उसे रास्ता दिखाने के लिए पर्सन ऑफ द ईयर चुना गया है.
 
मैगजीन ने मर्केल के चयन पर कहा है कि मर्केल ने यूरोप को ग्रीस कर्ज संकट से बचाने में अहम भूमिका निभाई और ग्रीस को अपनी शर्तों पर बेलआउट किया. मर्केल ने यूक्रेन में रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बढ़ते आक्रामक रवैए पर सख्ती दिखाई और माहौल को ठंडा किया.
 
सीरियाई शरणार्थियों के लिए शांतिदूत बनकर उभरीं मर्केल
 
मर्केल का सबसे मानवीय चेहरा सीरियाई शरणार्थी संकट के दौरान सामने आया जब उन्होंने कहा कि वो सीरियाई शरणार्थियों को चरमपंथी इस्लामिक क्रूरता के पीड़ित मानेंगी, न कि उसका वाहक. मर्केल ने आईएस सरगना बगदादी के आतंकियों को सबक सिखाने के लिए सेना विदेश भेजने का भी फैसला किया.
 

टाइम पर्सन ऑफ द ईयर की रेस में इस साल 8 नाम शॉर्टलिस्ट हुए थे जिसमें IS सरगना अबू बकर अल-बगदादी का नाम भी शामिल था. खिताब की शुरुआती लिस्ट में 58 नाम थे और उसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का भी नाम था.
 
1927 से हर साल टाइम पत्रिका चुनती है पर्सन ऑफ द ईयर
 
अमेरिका में रिपब्लिकन पार्टी की ओर से राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनने की रेस में शामिल डोनाल्ड ट्रम्प भी 8 शॉर्टलिस्ट में शामिल थे. 
 
टाइम पत्रिका 1927 से ही हर साल दुनिया का भला या बुरा करने वाले एक शख्स या एक समूह या एक अभियान जैसी किसी भी चीज को टाइम पर्सन ऑफ द ईयर चुनती रही है.
 
 
अब तक के सारे टाइम पर्सन ऑफ द ईयर की घोषणा वाले कवर का वीडियो स्क्रॉल यहां देखिए