वाशिंगटन. अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा कैलिफोर्निया में हुई गोलीबारी की घटना के बाद मुसलमानों के खिलाफ हो रही राजनीति और राजनीतिक बयानबाजी से बहुत आहात हैं.

व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जोश अर्नेस्ट का कहना है कि इस्लामिक स्टेट और अलकायदा जैसे आतंकवादी संगठनों की बातों को केवल सही साबित करने वाले लोग देशभक्त मुस्लिम समुदाय को हाशिए पर करने की कोशिश कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति उस राजनीतिक बयानबाजी से आहत हैं जो हमने मुसलमानों के खिलाफ होते देखी है और मुझे लगता है कि राष्ट्रपति ने पिछले दो सप्ताह में इस बारे में काफी जोर देकर बात की है.

अर्नेस्ट ने कहा कि  मुझे लगता है कि राष्ट्रपति को इस बात का भरोसा है कि अमेरिकियों की अधिकतर आबादी इस मूल सिद्धांत को समझती है कि लोगों को उनकी धार्मिक आस्था के आधार पर हिंसा के लिए निशाना नहीं बनाया जा सकता.

उन्होंने कहा कि अगर किसी मस्जिद को किसी विशेष खतरे से बचाने के लिए कुछ विशेष कदम उठाए जाने की आवश्यकता होगी तो मुझे पूरा भरोसा है कि स्थानीय कानून प्रवर्तन इस प्रयास के लिए प्रतिबद्ध है और यदि उन्हें संघीय सरकार का सहयोग चाहिए और मुझे पूरा भरोसा है कि उन्हें यह सहयोग मिलेगा.

अर्नेस्ट ने कहा कि अल कायदा और आईएस जैसे समूहों और अन्य आतंकवादी संगठनों के खिलाफ हमारे प्रयासों की सफलता के लिए यह स्पष्ट करना अहम है कि अमेरिका इन संगठनों के खिलाफ युद्धरत है, लेकिन हमारी लड़ाई इस्लाम से नहीं है. हम विश्व के मुसलमानों के खिलाफ युद्ध नहीं कर सकते.