इस्लामाबाद. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग पाकिस्तान के अपने पहले दौरे पर सोमवार को इस्लामाबाद पहुंचे. समाचार पत्र ‘डॉन’ की वेबसाईट के मुताबिक यह नौ साल के लंबे अंतराल के बाद किसी चीनी राष्ट्रपति की पाकिस्तान यात्रा है. पाकिस्तानी राष्ट्रपति ममनून हुसैन, प्रधानमंत्री नवाज शरीफ, आर्मी स्टाफ प्रमुख (सीओएएस) जनरल रहील शरीफ, रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ और प्रधानमंत्री के मंत्रिमंडल सदस्यों ने नूरखान हवाई अड्डे पर चीनी राष्ट्रपति की अगवानी की.

जिनपिंग का पाकिस्तान दौरा काफी महत्पूर्ण माना जा रहा है क्योंकि इस दौरे में 45 अरब डॉलर की ‘पाकिस्तान-चीन आर्थिक गलियारा (पीसीईसी)’ परियोजना के लिए लगभग 28 अरब डॉलर की पहली किस्त जारी कर सकते हैं. इस दौरान जिनपिंग के स्वागत में कंस्टीट्यूशन एवेन्यू में चारों ओर दोनों देशों के लहराते झंडे और ‘पाकिस्तान-चीन की दोस्ती जिंदाबाद’ के नारे वाले बैनर दिखे.

सूत्रों के मुताबकि, दोनों देश सीपीईसी के दायरे में निर्माण, ऊर्जा और संचार क्षेत्रों की विकास परियोजनाओं से जुड़े लगभग 50 अरब डॉलर के समझौतों और समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर कर सकते हैं. जिनपिंग को पाकिस्तान के सर्वश्रेष्ठ नागरिक पुरस्कार ‘निशान-ए-पाकिस्तान’ से सम्मानित किया जाएगा.