नई दिल्ली.  नेपाल ने भारत के खिलाफ कड़ा कदम उठाते हुए भारत के सभी भारतीय न्यूज चैनलों को बंद कर दिया है. नेपाल का कहना है कि भारत उनकी संप्रभुता पर अटैक कर रहा है और भारत ने नेपाल में आपूर्ति बाधित करने के लिए अघोषित रूप से नाकेबंदी कर रखी है, हालांकि भारत किसी भी तरह की नाकेबंदी से इनकार किया है.

बता दें कि दक्षिण नेपाल में नए संविधान को लेकर विरोध-प्रदर्शन हो रहा है. नेपाल में माओवादी पार्टियों की तरफ से भारतीय सिनेमा और टीवी चैनल्स का लगातार विरोध किया जा रहा है. इससे पहले भी नेपाल के केबल ऑपरेटर्स ने 42 भारतीय चैनलों को ब्लॉक कर दिया था.

नए संविधान को लेकर नेपाल में पुलिस और मधेसियों के बीच झड़प में अब तक 50 लोगों की जान जा चुकी है. नेपाल व्यापक से रूप से भारत पर कई मामलों में निर्भर है. नेपाल के लोगों में गुस्सा है कि भारत के कारण यहां जरूरी सामानों की किल्लत हो गई है.

SSB के 13 जवानों को भारत को सौंपा

नेपाल ने सीमा सुरक्षा बल के 13 जवानों को अपनी हिरासत में लेने के बाद भारत दूतावास को सौंप दिया है. जवानों को हिरासत में लेने के बाद भारतीय गृह मंत्रालय इस घटना के बाद नेपाली दूतावास के संपर्क में था.

दोपहर को इन जवानों को भारतीय दूतावास को सौंप दिया गया. एसएसबी के आईजी ऑपपरेशन दीपक कुमार ने इन जवानों की रिहाई की पुष्टि की. नेपाली मीडिया में यह खबर छाई हुई है.

बता दें कि एसएसबी के ये 13 जवान नेपाल सीमा में घुस गए थे. काठमांडू पोस्ट के मुताबिक ये जवान इलाके में तेल तस्करों का पीछा करते हुए नेपाल में घुस गए थे.