पटना. महागठबंधन की जीत के सात ही बीजेपी ने बिहार का हार स्वीकार कर लिया है. पार्टी की तरफ से वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा कि बिहार की हार सबकी जिम्मेदारी है और पार्टी विपक्ष के रुप में बिहार में मजबूत होगी. जेटली ने इस हार के पीछे आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत का बचाव करते हुए कहा कि पार्टी यहां किसी बयान या विवाद से नहीं बल्कि वोटगणित के कारण हुई है.
 
दूसरी तरफ बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने कहा है कि नीतीश कुमार और लालू यादव मिलकर सरकार चला लें तो यही बड़ी बात होगी. मांझी ने कहा कि एनडीए ने सीएम का कैंडिडेट बताया होता तो नतीजा अच्छा होता.
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो: