नई दिल्ली. लोजपा (लोक जनशक्ति पार्टी) के अध्यक्ष व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान और हम (हिंदुस्तान अवाम मोर्चा) पार्टी के सुप्रीमो जीतन राम मांझी के बीच किसी तरह का विवाद नहीं है. इंडिया न्यूज शो किस्सा कुर्सी का में एडिटर-इन-चीफ दीपक चौरसिया से बात करते हुए लोजपा संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष व सांसद चिराग पासवान ने कहा कि दोनों के बीच बड़े दलित नेता को लेकर विवाद नहीं.
 
कभी-कभी मीडिया में ऐसी बातें उछल जाती है, लेकिन व्यक्तिगत और राजनीतिक तौर पर मांझी और रामविलास पासवान करीबी है. चुनाव में परिवारवाद के मुद्दे पर चिराग ने कहा कि वह जरुर परिवारवाद के खिलाफ है, लेकिन किसी की क्षमता अगर जीतने की हो तो परिवारवाद को बीच में नहीं लाना चाहिए.
 
 
रामविलास ने माना कि मांझी है बड़े नेता
इस शो में चिराग पासवान से जब पूछा गया कि जीतनराम मांझी अक्सर खुद को रामविलास से ऊपर दिखाते रहे हैं? जवाब में चिराग ने कहा कि निश्चय ही रामविलास ने मांझी को ऊपर माना है क्योंकि वह इन बेबुनियाद सी बातों पर ध्यान नहीं देना चाहते. 
 
 
बिहार विधानसभा की कुल 243 सीटों में से 160 पर बीजेपी, 40 सीटों पर रामविलास पासवान की एलजेपी,  उपेंद्र कुशवाहा की आरएसएलपी 23 सीटों पर और जीतन राम मांझी की हिन्दुस्तान आवामी मोर्चा 20 सीटों पर चुनाव लड़ेगी.