नई दिल्ली. एनडीए ने बिहार में मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित नहीं किया है. फिर भी मोदी सरकार के मंत्री और बिहार में एनडीए के बड़े नेता गिरिराज सिंह कह रहे हैं कि बिहार में कोई पिछड़ी जाति वाला ही सीएम बनेगा.
 
दूसरी तरफ महागठबंधन के नेता लालू प्रसाद यादव खुलकर जाति का कार्ड खेल ही रहे हैं. ऐसे में क्या बिहार के चुनाव में विकास सिर्फ नारा ही बनकर रह जाएगा? क्या बिहार में असली खेल जाति का ही है?
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो: