नई दिल्ली. नाबालिग से रेप के आरोप में आसाराम 24 महीनों से जोधपुर जेल में बंद है. आसाराम और उनके बेटे नारायण साईं पर सुरत की दो बहनों से रेप का केस भी चल रहा है. अब तक के केस में बाप-बेटे के खिलाफ गवाही देने वाले तीन लोगों का मर्डर हो चुका है जबकि 6 गवाहों पर जानलेवा हमले हो चुके हैं ये हमले देश के अलग-अलग राज्यों में हुए हैं.

21 सितंबर तो अहमदाबाद पुलिस ने कर्नाटक से आसाराम के चेले और उसकी बीवी को पकड़ कर ये खुलासा किया कि इस गैंग में 15 और भी लोग शामिल हैं. गुजरात में आसाराम के खिलाफ गवाही देने वाले लोगों पर हमले इसी गैंग ने कराए हैं. जिससे आसाराम के खिलाफ गवाही देने वाले बाकी लोग सहमे हुए हैं क्योंकि ये कोई नहीं जानता की ऐसे कितने और गैंग हैं और किस-किस पर नजरें गड़ाए हुए हैं.  शाजहांपुर की एक पीड़िता की शिकायत पर अब केंद्र सरकार गवाहों की हत्या की सीबीआई जांच को भी तैयार है. अब ये बड़ी बहस का मुद्दा है कि आसाराम के कितने गैंग हैं और कहां-कहां फैले हुए हैं.