नई दिल्ली. देखिये मधुर भंडारकर की फिल्म कैलेंडर गर्ल्स में कितना सच, कितना अफ़साना? मधुर भंडारकर का इस फिल्म के बारे में कहना है कि ये एक रियलिस्टिक मुद्दे पर बनी हुई फिल्म है. इस फिल्म में 75% सच्चाई दिखाई गई है. इसके अलावा भंडारकर का कहना है कि हमारा ग्लैमर वर्ल्ड बहुत ही भव्य है, लेकिन उसमें कई सच्चाईयां हैं. इस फिल्म का नाम अनाउंस करते ही विवाद खड़ा हो गया. 
 
हालांकि ये फिल्म पाकिस्तान में बैन हो चुकी है. मूवी में एक डायलॉग है ‘पाकिस्तान में लडकियां उतने ही बोल्ड काम करती हैं जितना बांकी लडकियां करती हैं, बल्कि कभी-कभी उससे ज्यादा भी.’ इस फिल्म में बहुत सारे पाकिस्तानी मॉडल की रियल लाइफ को भी दिखाया गया है. इससे पहले भंडारकर फैशन, पेज-3 जैसी मूवी बना चुके हैं जो कि काफी विवादों में रही थी. 99% लडकियां कैलेंडर गर्ल्स के लिए सक्सेस नहीं हो पाती हैं, सक्सेस रेशियो 1 % ही रहता है. 1 % लडकियां सुपरस्टार बनती हैं. ये फिल्म 25 सितम्बर को रिलीज होगी.
 
देखिये Tonight with दीपक चौरसिया मधुर भंडारकर और कैलेंडर गर्ल्स के साथ