नई दिल्ली. डबल रेप के आरोपी आसाराम अब तक अपने जिन अंधभक्तों के दम पर दहाड़ते थे, अब वह उन्हीं से दूरी बनाने के लिए इश्तहार छपवा रहे हैं. आसाराम ने तौबा कर ली है कि वह ना तो अपने समर्थकों से मिलेंगे और ना ही किसी तरह की इशारेबाज़ी करेंगे.
 
आखिर कोर्ट का कोड़ा पड़ते ही इतना क्यों सहम गए आसाराम? क्या पेशी के दौरान आसाराम अपने गुर्गों को खतरनाक इशारे करते थे? 
 
इन्हीं सवालों पर देखिए पूरा शो: