नई दिल्ली. इंद्राणी मुखर्जी जब अपनी ही बेटी शीना बोरा के हत्या के आरोप में गिरफ्तार हुई, तब उसके खिलाफ पहला बयान उसी के बेटे और शीना के भाई मिखाइल ने दिया. मिखाइल ने ही राज़ खोला कि शीना, इंद्राणी की बेटी थी और शीना के साथ-साथ उसकी जान भी खतरे में थी.
 
 
पहले लग रहा था कि मिखाइल शायद अपनी मां से खुन्नस निकाल रहा है. लेकिन, अब मुंबई पुलिस को ऐसे सबूत मिले हैं, जिनसे साफ है कि शीना के बाद मिखाइल को भी मरना था मिखाइल को मारने के बाद उसकी लाश ठिकाने लगाने के लिए इंद्राणी ने सूटकेस भी खरीद लिया था, जिसे पुलिस ने बरामद कर लिया है  कहा जा रहा है कि मिखाइल और शीना को मारकर इंद्राणी अपना और अपनी छोटी बेटी विधि का भविष्य सुरक्षित करना चाहती थी.  आज  में इसी पर बहस हुई कि आखिर इंद्राणी और किस-किस को निपटाने वाली थी ?