नई दिल्ली. बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन बुधवार को 75 साल के हो गए. करीब 48 साल से फिल्म इंडस्ट्री में काम कर रहे बिग बी का जादू आज भी सिर चढ़ कर बोलता है. बता दें आज कल उनका सुपर हिट शो केबीसी नौ सीजन चल रहा है. आज भी नौंवें सीजन में ये शो नंबर वन शो बन हुआ है.  इस जादू के पीछे कई कहानियां, कई विवाद, कई रंग, कई उतार चढ़ाव रहे हैं. अमिताभ की कहानी में तकदीर भी है और तकलीफ भी. इसमें शोहरत भी है और विवाद भी. इसमें रंजिशें भी हैं और रोमांस भी . अमिताभ के 75 साल के इस सफर में कंगाली भी है और बेशुमार दौलत भी. कुल मिलाकर अमिताभ के जीवन को अगर देखें तो वो लगातार उतार चढ़ाव, संघर्ष, सफलता और संबंधों का कॉकटेल है.
 
बता दें अमिताभ का जन्म 11 अक्टूबर, 1942 को इलाहाबाद में हुआ था. अमिताभ का जन्म जब हुआ तब उनके मां-बाप किराए के एक मकान में रहते थे. अमिताभ के बचपन का नाम इंकलाब था जो उनके पिता और हिंदी के प्रसिद्ध कवि हरिवंश राय बच्चन ने रखा था. उस दौरान अंग्रेजों के खिलाफ भारत छोड़ो आंदोलन चल रहा था. बाद में कवि सुमित्रा नंदन पंत की सलाह पर उनका नाम अमिताभ रखा गया. अमिताभ अब इलाहाबाद ज्यादा नहीं आते. लेकिन उनका रिश्ता अपनी जन्मस्थली से आज भी बना हुआ है. कुली फिल्म के दौरान जब अमिताभ को चोट लगी तब यहां के मंदिरों में उनके लिए पूजा-पाठ हुए और मस्जिदों में दुआएं मांगी गईं. आज भी अमिताभ हर साल अपने जन्मदिन पर मुंबई से एक पंडित को इलाहाबाद भेज कर यहां के प्राचीन हनुमान मंदिर में पूजा पाठ करवाते हैं.   
 
इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में टीचर की नौकरी लगने के बाद हरिवंश राय परिवार को लेकर फूलों वाले बंगले में चले आए. ये एडवोकेट शंकर तिवारी का बंगला था जिसमें किस्म-किस्म के फूल लगे थे. इसका किराया सोलह रुपए पचास पैसे था. यहीं से अमिताभ और उनके भाई अजिताभ ब्वॉएज हाई स्कूल में पढ़ने जाया करते थे. अक्सर दोनों भाई अपनी मां तेजी बच्चन के साथ थिएटर भी जाते थे.   
 
आठवीं तक की पढ़ाई पूरी करने के बाद अमिताभ पढ़ने  नैनीताल के शेरवुड कॉलेज में चले गए. इसी कॉलेज से उन्होंने 9वीं से 11वीं तक की पढ़ाई की. यहां आकर थिएटर में उनकी दिलचस्पी बढ़ गई. दरअसल, इंग्लैंड में पैदा हुई एक्ट्रेस जेनिफर केंडेल का थिएटर ग्रुप ‘पृथ्वी’ शेरवुड कॉलेज में आकर प्ले सिखाता था. बिग बी को इसी थिएटर ग्रुप से एक्टिंग की प्रेरणा मिली. जेनिफर केंडेल ही अमिताभ की पहली एक्टिंग टीचर थीं. जेनिफर कोई और नहीं मशहूर एक्टर शशि कपूर की पत्नी थीं. उन्होंने 1958 में शशि कपूर से शादी की थी. जेनिफर अमिताभ की फेवरिट टीचर्स में से एक थीं.
 
अमिताभ को जैसे ही खबर मिलती थी कि जेनिफर स्पेशल वर्कशॉप के लिए कॉलेज पहुंची हैं. तो अमिताभ सब कुछ छोड़ कर उनके वर्कशॉप में पहुंच जाते थे. शेरवुड में बिताए 3 सालों के दौरान हुए एनुअल फंक्शन में से दो बार उन्हें बेस्ट एक्टर का अवार्ड मिला. बाद में अमिताभ ने माना कि उनकी ज़िंदगी का सबसे खुशहाल समय शेरवुड में बीता. और आज वो जो कुछ हैं शेरवुड कॉलेज की बदौलत ही हैं.
 
(वीडियो में देखें पूरा शो )
 
 
 

(वीडियो में देखें पूरा शो )