नई दिल्ली. संसद में जारी हंगामे के बीच गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार के दिन कांग्रेस पर निशाना साधा. उन्होंने कहा, ‘यूपीए के गृह मंत्री ने हिंदू आतंकवाद की नई टर्म इजाद करके आतंकवादी घटनाओं की जांच की दिशा को बदलने का काम किया. तब हिंदू आतंकवाद की टर्म इजाद किए जाने पर हाफिज सईद ने उन्हें बधाई दी थी. लेकिन ऐसी शर्मनाक स्थिति यह सरकार नहीं होने देगी.’

आज से लगभग पांच साल पहले देश में भगवा आतंकवाद पर राजनीति गरमाई थी. अब फिर हिंदू आतंकवाद पर राजनीति शुरू हुई. फिर यही सवाल देश की संसद से लेकर सड़क तक गूंज रहा है कि क्या आतंकवाद का कोई धर्म होता है? क्या यूपीए सरकार ने आतंकवाद को धार्मिक आधार पर बांट दिया? क्या हिंदू आतंकवाद कहने से आतंक के खिलाफ लड़ाई कमज़ोर पड़ी.

इसी पर देखिए बहस: