नई दिल्ली. पूरा देश जिस वक्त याकूब की फांसी के सस्पेंस और पूर्व राष्ट्रपति डॉक्टर कलाम के निधन के शोक में डूबा है, तब बिहार में राजनीति का अलग ही राग गूंज रहा है.

यहां मोदी जहां एनडीए को मजबूत करने के लिए 9 अगस्त को गया, 19 अगस्त को सहरसा और 30 अगस्त को भागलपुर में रैली करने जा रहे हैं वहीं नीतीश और लालू लगातार अपना दबदबा बनाए हुए हैं. साथ ही पार्टियों के बीच जुबानी जंग भी तेज है.

ऐसे में सवाल बड़ा है कि क्या बिहार में एनडीए और महागठबंधन के नेता अब ये बताने में जुटे हैं कि किसका डीएनए कैसा है? क्या आगामी बिहार चुनाव मोदी बनाम नीतीश है?

देखिए इसी पर बड़ी बहस: