नई दिल्ली. संसद का सत्र जनता की भलाई के काम करने के लिए होता है, लेकिन संसद के मौजूदा सत्र में तीन दिन सत्ता पक्ष और विपक्ष के बीच लड़ाई की भेंट चढ़ चुके हैं.

मुद्दा वही पुराना है. कांग्रेस लगातार पूर्व आईपीएल कमिश्नर ललित मोदी को वीजा दिलवाने के मामले में विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का इस्तीफा मांग रहे हैं. जिस पर कांग्रेस चर्चा के लिए राजी नहीं है और बीजेपी चर्चा के अलावा कोई एक्शन लेने को तैयार नहीं है. ऐसे में सवाल बड़ा है कि क्या राजनीतिक दलों ने संसद को रंगमंच का स्टेज बना लिया है? आम जनता के लिए काम करने के बजाय खुद में ही उलझे हैं. 

वीडियो में देखिए बड़ी बहस