नई दिल्ली. बीजेपी ने शुरुआती हिचक के बाद राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे का बचाव करने का फैसला किया, तो कांग्रेस खोज-खोज कर दस्तावेजों के जरिए वसुंधरा राजे और ईडी के भगोड़े ललित मोदी की कलई खोलने में जुट गई. कांग्रेस का नया आरोप ये है कि वसुंधरा-ललित मोदी ने मिलकर धौलपुर का सरकारी महल हड़प लिया. 

कांग्रेस के मुताबिक, वसुंधरा और ललित मोदी के बीच कारोबारी रिश्ते हैं. कांग्रेस ने आरोप लगाया कि 1954 के दस्तावेज से साबित होता है कि धौलपुर निजी महल नहीं, सरकारी संपत्ति हैआज बड़ी बहस में सवाल है कि क्या अब भी वसुंधरा राजे को बचाव करके बीजेपी अपना नुकसान कर रही है ?