नई दिल्ली. पूर्व आईपीएल कमिश्नर और भगोड़े ललित मोदी का विदेश मंत्री सुषमा स्वराज द्वारा मदद करने पर विवाद हो गया है. सवाल उठता है कि
क्या मानवता के आधार पर किसी भगोड़े की मदद करना ठीक है? अरबों रुपये की मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपी ललित मोदी की मदद करके विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का सामना अब इसी सवाल से हो रहा है.

भगोड़े ललित मोदी की मदद का मामला नीयत का है या नैतिकता का? विदेश मंत्री के रूप में सुषमा स्वराज ने निजी तौर पर ये फैसला क्यों किया. इन्हीं सवालों का जवाब तलाश करता शो ‘टुनाईट विद दीपक चौरसिया’