नई दिल्ली. मणिपुर में जिन उग्रवादियों ने भारतीय सेना की टुकड़ियों पर घात लगाकर हमला किया था, उन्हीं उग्रवादियों को भारतीय सेना ने सीमा पार जाकर म्यांमार में घुसकर मारा. भारतीय फौज की इस कामयाब सर्जिकल स्ट्राइक के बाद सरकार ने ये संदेश भी दे दिया है कि भारत पर हमला करने वाले आतंकवादियों को भी ऐसे ही सबक सिखाया जाएगा.

इशारा पाकिस्तान की ओर भी है और पाकिस्तान में पनाह लिए हुए आतंकवादियों के होश भी उड़े हुए हैं. इस अभियान को भारत की कूटनीति और रणनीति में क्रांतिकारी बदलाव के तौर पर देखा जा रहा है, चूंकि भारत में आतंकवाद का सबसे ज्यादा खतरा पाकिस्तान में छिपे आतंकियों से है,

इसलिए इस बात पर सरहद के दोनों तरफ बहस बड़ी हो गई है कि म्यांमार में घुसकर मारा तो क्या पाकिस्तान में भी मारेंगे ? क्या म्यांमार की तरह आतंक का खात्मा करने के लिए नवाज शरीफ भी मोदी का साथ देंगे ?