नई दिल्ली. अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधा है. शिवसेना ने अपने मुखपत्र में कहा है कि मंदिर के मुद्दे पर बीजेपी के अंदर घंटानाद शुरू हो गया है. शिवसेना के इस सवाल पर ही आज इंडिया न्यूज़ के विशेष शो बड़ी बहस में चर्चा की गई. चर्चा में सामना में संपादकीय लिखने वाले दोपहर सामना के संपादक प्रेम शुक्ला भी मौजूद रहे.

शिवसेना ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर का मुद्दा अमित शाह द्वारा टाल-मटोल करने पर बीजेपी के प्रखर हिंदुत्ववादियों के बीच खलबली मच गई है। अब किस मुंह से वह लोगों के सामने जाएं? ऐसा सवाल उनके सामने उठ खड़ा हुआ है. राम मंदिर मुद्दे पर बीजेपी में शुरू हो गया है घंटानाद: शिवसेना अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधा है.

सामना ने कहा कि अयोध्या आंदोलन के एक सिपाही विनय कटियार ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को जमींदोज कर दिया है. शाह ने दिल्ली में पत्रकारों से कहा था कि अपने मूल वैचारिक मुद्दों को आगे बढ़ाने के लिए बीजेपी को लोकसभा में 370 सांसद चाहिए. बीजेपी के 370 सांसदों की ‘पुड़ी’ (शिगूफा) जो शाह ने छेड़ी है वह रामभक्तों को मंजूर नहीं.

शिवसेना ने कहा कि राम का मंदिर अभी नहीं बनाया गया तो कभी नहीं बनाया जाएगा. लेकिन चुनाव के वक्त जैसे राम मंदिर के मुद्दे को हिंदुत्ववादी संगठन आगे बढ़ाते हैं वैसे ही गैर हिंदुत्ववादी संगठन मंदिर मुद्दे को उठाकर मुस्लिम वोट हासिल करने की कोशिश करते हैं. वर्तमान राजनीति में मंदिर निर्माण को धार्मिक उन्माद ठहराया जाता होगा तो मुंह बंद कर मुक्कों की मार सहन करने के अलावा कोई चारा नहीं रह जाएगा.

IANS से भी इनपुट