नई दिल्ली. भारत देश की सबसे मजबूत पार्टी बीजेपी ने दावा किया मिस्ड कॉल अभियान मे 30 लाख मुस्लिम बीजेपी से जुड़े है. राज्यों से मिली रिपोर्ट के अनुसार, मुस्लिमों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भरोसा जताया है. हाल सभी राज्यों से मिली रिपोर्ट के अनुसार 30 लाख मुस्लिम बीजेपी से जुड़े है. हालांकि, यह सदस्यता मिस्ड कॉल के जरिये ली गई है. मगर, पार्टी सूत्रों का कहना है कि यह सदस्यता अभियान में एक बहुत बड़ा बदलाव है. इस आंकड़े के बाद सवाल पैदा होता है कि क्या मुसलमान बाबरी मस्जिद कांड को भुला चुके हैं.

एक अंग्रेजी अखबार में छपी खबर के अनुसार, भाजपा के राष्ट्रीय अल्पसंख्यक मोर्चा के प्रमुख अब्दुल रशीद अंसारी ने बताया कि इससे पहले पार्टी में मुस्लिम सदस्यों की संख्या नहीं गिनी गई थी. मगर, अब मोटे तौर पर कहा जाए, तो यह आंकड़ा पहले से दोगुना हुआ है। आंकड़ों के अनुसार, भाजपा शासित राज्यों में मुस्लिमों के पार्टी से जुड़ने की दर अधिक है.

मध्य प्रदेश, गुजरात, दिल्ली, राजस्थान के आंकड़े 
मध्य प्रदेश में करीब चार लाख, गुजरात में दो लाख 60 हजार, दिल्ली में 2.50लाख, पश्िचम बंगाल में दो लाख 30 हजार, राजस्थान में दो लाख और असम में भी दो लाख मुस्लिमों ने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की है. ऐसे ही उत्तर प्रदेश में भाजपा को एक लाख 75 हजार मुस्लिमों के ‘मिस्ड कॉल’ मिले हैं, जिसके जरिए भी सदस्यता अभियान चलाए हुए थी. भाजपा के सामने सबसे बड़ी चुनौती 30 लाख मुस्लिम सदस्यों को पार्टी कार्यकर्ता बनाने की होगी. अंसारी ने कहा कि इसमें कोई संदेह नहीं है. यह एक बहुत बड़ी चुनौती है। हालांकि, भाजपा अपने हाईटेक सदस्यता अभियान से विश्व की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी बन गई है.

IANS से भी इनपुट