नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली में केजरीवाल सरकार ने जिस टैंकर घोटाले की जांच कराई थी, अब उसके लपेटे में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल खुद आ गए हैं. आखिर केजरीवाल ने अपनी ही सरकार की जांच रिपोर्ट पर एक्शन लेने में देरी क्यों की ?
 
घोटाला छिपाने से केजरीवाल को क्या फायदा था ? जो टैंकर घोटाला शीला दीक्षित के राज में हुआ तो उसमें केजरीवाल के खिलाफ एफआईआर क्यों? इंडिया न्यूज के खास शो ‘टुनाइट विद दीपक चौरसिया’ में इन्हीं सवालों पर पेश है बड़ी बहस.
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो