नई दिल्ली. आसाराम तब जेल में थे और उनका बेटा नारायण रेप का केस दर्ज़ होने के बाद फरार था. उसकी तलाश में सूरत पुलिस ने जब छापे मारने शुरू किए, तो आसाराम के एक ठिकाने से आसाराम और नारायण साईं की बेहिसाब दौलत के दस्तावेज़ बरामद हुए थे.
 
उन दस्तावेज़ों को रखने के लिए 42 बोरों की जरूरत पड़ी थी. सूरत पुलिस की जांच में खुलासा हुआ था कि आसाराम और नारायण साईं ने 10 हज़ार करोड़ से ज्यादा की दौलत छिपा रखी है. 
 
सूरत पुलिस की रिपोर्ट पर ईडी और इनकम टैक्स ने जांच शुरू की. इनकम टैक्स ने दस्तावेज़ खंगाला तो खुलासा हुआ कि आसाराम ने सिर्फ 6 साल में 2500 करोड़ कमाए, जिसका न तो कोई हिसाब था और न ही टैक्स चुकाया गया था.
 
मतलब सीधे-सीधे 750 करोड़ के इनकम टैक्स की चोरी की गई. इंडिया न्यूज के खास शो ‘टुनाइट विद दीपक चौरसिया’ में ‘बड़ी बहस’ का मुद्दा है कि क्या आसाराम देश के सबसे बड़े टैक्स चोर हैं? 750 करोड़ के टैक्स की वसूली कैसे और कब होगी?
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो