नई दिल्ली. शायद ही कोई हफ्ता ऐसा बीतता है, जब पाकिस्तान से कोई दिल दहला देने वाली खबर ना आए. कल पाकिस्तान के कब्ज़े वाले कश्मीर के गिलगिट बाल्टिस्तान में एक हेलीकॉप्टर क्रैश हुआ, जिसमें दो देशों के राजदूत और दो देशों के राजदूतों की पत्नियों की मौत हो गई. पाकिस्तान सरकार इसे हादसा बता रही है और तालिबान दावा कर रहा है कि ये हादसा नहीं, आतंकी हमला था. चूंकि ये इलाका तालिबान के गढ़ और हिंदुस्तान दोनों के करीब है.

 भारत और पाकिस्तान दोनों के लिए ये बड़ी बहस का मुद्दा है कि क्या वाकई तालिबान की मिसाइल के निशाने पर नवाज़ शरीफ थे? मिसाइल से लैस तालिबान भारत के लिए कितना बड़ा खतरा है?