नई दिल्ली. बुधवार को मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने जेएनयू में देश विरोधी नारेबाज़ी के मुद्दे पर विपक्ष पर तीखा हमला बोला था. जो लोग देश विरोधी नारों को अभिव्यक्ति की आजादी बता रहे थे, उन्हें स्मृति ईरानी ने बताया कि जेएनयू में बोलने की आजादी के नाम पर महिषासुर का महिमामंडन भी होता रहा है और दुर्गा के बारे में आपत्तिजनक टिप्पणियां भी.

स्मृति ईरानी ने यही बात राज्यसभा में दोहराई तो पूरा विपक्ष इसके खिलाफ हो गया. विपक्ष अब आरोप लगा रहा है कि मानव संसाधन विकास मंत्री ने एक विवादित पर्चा पढ़कर दुर्गा मां का अपमान किया है.

राजनीति महिषासुर के नाम पर भी हो रही है, जिसके शहीदी दिवस में बीजेपी के मौजूदा सांसद उदित राज भी शिरकत कर चुके हैं. अब ये बड़ी बहस का मुद्दा है कि अब महिषासुर पर राजनीति का महासंग्राम क्यों ? दुर्गा और महिषासुर पर सेंकी जाएगी सियासी रोटी ?

वीडियो में देखें पूरा शो