नई दिल्ली. क्रिकेट का मैदान हो या कूटनीति का मंच, जब भारत और पाकिस्तान आमने-सामने होते हैं, तो फिर आस-पास की सारी चीजें बौनी हो जाती हैं. इस्लामाबाद में यही हो रहा है. यहां अफगानिस्तान पर इस्तांबुल प्रोसेस के तहत ‘हार्ट ऑफ एशिया’ कॉन्फ्रेंस होना है, जिसमें भारत, पाकिस्तान, ईरान, चीन समेत कम से कम 10 एशियाई देशों के विदेश मंत्री शामिल होंगे.
 
विदेश मंत्री सुषमा स्वराज इसी कॉन्फ्रेंस के लिए इस्लामाबाद पहुंची हैं, जहां उनकी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ से भी मुलाकात होनी है. अब सबकी नजरें अफगानिस्तान से ज्यादा सुषमा और शरीफ की मुलाकात पर ही हैं.
 
सवाल यही है कि क्या सुषमा स्वराज के इस्लामाबाद दौरे से दोनों देशों के रिश्ते सुधरेंगे ? क्या पाकिस्तान से बातचीत के लिए माहौल अब ठीक है?
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो: