नई दिल्ली. असहिष्णुता पर बहस साहित्यिक संस्थानों से शुरू हुई, फिर सड़कों से होते हुए अब संसद तक जा पहुंची है.  इसे लेकर संसद के दोनों सदनों में जमकर वाद-विवाद और हंगामा भी हो रहा है.
 
दूसरी तरफ सरकार और विपक्ष तरह-तरह की बयानबाजियां भी कर रहे हैं. इस मसले पर गृह राज्यमंत्री का दावा है कि सांप्रदायिक हिंसा की 52 फीसदी घटनाएं गैर बीजेपी शासित राज्यों में हुईं है. क्या सांप्रदायिक हिंसा के पीछे भी कोई राजनीति है? क्या वाकई गैर बीजेपी राज्यों में ज्यादा दंगे हुए हैं?  इंडिया न्यूज के खास शो  बड़ी बहस  इन्हीं सवालों पर होगी बहस.
 
 
वीडियो में देखे पूरा शो