लखनऊ: शिया सेंट्रल बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी को अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम की तरफ से धमकी मिली है. मदरसों की शिक्षा को लेकर आलोचना करते हुए देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र लिखने को लेकर रिजवी को यह धमकी दी गई है. धमकी मिलने के बाद वसीम रिजवी ने डॉन दाऊद इब्राहिम के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई है. रिजवी ने इस मामले में कहा है कि शनिवार की देर रात उन्हें फोन आया था. फोन करने वाले शख्स ने उन्हें खुद को ‘डी कंपनी’ का सदस्य बताया और दाऊद इब्राहिम के नाम से धमकी दी.

फोन कर धमकी देने वाले उस शख्स ने वसीम रिजवी से मौलानाओं से बिना शर्त माफी मांगने के लिए कहा. इसके साथ ही उस शख्स ने कहा कि अगर वसीम रिजवी माफी नहीं मांगी तो उनका पूरे परिवार को धमाके से उड़ा दिया जाएगा. आगे रिजवी ने कहा कि यह फोन नेपाल से दाऊद के किसी गुर्गे ने किया है. आगे उन्होंने बताया कि फोन पर मिली इस धमकी से यह साबित हो गया है कि कुछ कट्टरपंथी लोगों के संबंध दाऊद इब्राहिम से हैं. रिजवी के इस धमकी भरी कॉल की कॉल रिकोर्डिंग भी मौजूद है. बता दें कि मदरसों की आलोचना करने के बाद से ही वसीम रिजवी कई मुस्लिम संगठनों के निशाने पर आ गए हैं.

वहीं मदरसों पर आलोचना के मामले में वसीम रिजवी को जमात-ए-उलेमा-ए-हिंद ने भी लीगल नोटिस भेजते हुए 20 करोड़ रुपए की मानहानी का दावा किया है. आपको बता दें कि बीते दिनों शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड चेयरमैन वसीम रिजवी ने सूबे में चल रहे मदरसों को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा था. पत्र में वसीम रिजवी ने पीएम मोदी से मांग करते हुए कहा था कि अब समय आ गया है कि मदरसा शिक्षा को मुख्यधारा से जोड़ दिया जाए. इसके साथ ही रिजवी ने लिखा था कि कुछ कट्टरपंथी और संगठन बच्चों को सिर्फ मदरसे की शिक्षा देकर उन बच्चों को सामान्य शिक्षा से दूर कर रहे हैं. मदरसों में बच्चे जो शिक्षा दी जाती है उस शिक्षा का स्तर निचली सतह का है.

शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने पीएम नरेंद्र मोदी को लिखा पत्र, कहा- आतंकवादी कर रहे हैं मदरसों को फंडिंग

लव जेहाद पर किताब लांच करने के बाद बोले संघ नेता, मार्क्सवादी रुपये में 50 पैसे तो माओवादी 100 पैसे