रांचीः बिरसा मुंडा जेल में बंद राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव की मकर संक्रांति जेल में ही मन रही है जिसको देखते हुए उनके समर्थक दही-चूड़ा खिलाने के लिए पूरी तैयारी के साथ जेल पहुंच गए. लालू के समर्थकों ने चूड़ा-दही की बहुत अच्छी पैकिंग करवा रखी थी जिसको देखकर ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि वो खुद लालू यादव को दही चूड़ा खिला कर ही वापस जाएंगे. समर्थकों द्वारा ऐसा किया जाने के पीछे उनका उद्देश्य लालू यादव को आ रही घर के चूड़ा-दही की याद को कम करना था. समर्थकों द्वारा लाया गया चूड़ा-दही का पार्सल इतनी बड़ा था कि कम से कम 50 लोग पूरी तरह से पेट भर खा लेते.

लालू यादव ने चारा घोटाले में हुई सुनवाई के दौरान जज से कहा ता कि अगर वो रिहा हो जाते तो चूड़ा-दही मकर संक्रांति पर खाते और आपको भी( जज शिवपाल सिंह) बुलाते लेकिन, सुनवाई कर रहे जज शिवपाल सिंह ने बड़ी हाजिरजवाबी दिखाते हुए लालू यादव को जवाब दिया की आप चिंता ना करें जेल में भी आपको चूड़ा-दही का इंतजाम किया जाएगा.

बता दें आरजेडी सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव प्रत्येक वर्ष मकर संक्रांति के के मौके पर पर अपने पटना स्थित आवास पर 14 और 15 जनवरी यानी दो दिनों के लिए चूड़ा-दही और तिलकुट भोज का आयोजन करते हैं. जिसमें 14 तारीख को संक्रांति वाले दिन लालू के घर बिहार के तमाम बड़े नेताओं का जमावड़ा लगता था. जिसमें सरकार और विपक्ष के तमाम नेता शामिल होते थे .इसके अलावा 15 तारीख को चूड़ा-दही और तिलकुट के भोज का आयोजन मुख्यतौर पर अलपसंख्यक समुदाय के लिए रखा जाता था. इस दिन पूरे बिहार से लोगों का हूजूम लालू प्रसाद के घर देखा जाता था. लेकिन इस बार लालू यादव के जेल में होने के चलते उनके आवास पर सन्नाटा पसरा हुआ है.

 

झारखंड: भाजपा सरकार के कृषि मंत्री रंधीर सिंह के बिगड़े बोल, कहा-बीजेपी हमको तेल लगाएगी हम नहीं