भोपाल: मध्यप्रदेश के एक स्कूल में कुछ बच्चों को भारत माता की जय बोलना काफी मंहगा साबित हो गया. स्कूल प्रसासन ने उन सभी 20 बच्चों को प्री बोर्ड के एग्जाम देने से रोक दिया. जब बच्चों ने अपने परिजनों को इस बात की सूचना दी तो भड़के परिजनों ने इस मामले को लेकर स्कूल के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है. हालांकि, स्कूल प्रबंधन ने इस मामाले में अभी तक चुप्पी साधी हुई है.

मिली जानकारी के अनुसार, यह मामला एमपी के रतलाम में स्थित एक कस्बे के सेंट जोसेफ कॉन्वेंट स्कूल का है. बीते दिन स्कूल में पढ़ने वाले नौंवी कक्षा के छात्रों ने भारत माता की जय के नारे लगाएं थे लेकिन बच्चों की यह बात स्कूल को प्रशासन पूरी नागवार गुजरी और कार्रवाई करते हुए सभी 20 बच्चों को प्री बोर्ड की परीक्षा देने से रोक दिया. जब परिजनों को इस बात कि खबर हुई तो वे भड़क गए और शिकायत लेकर सीधा पुलिस के पास पहुंचे. मामला संज्ञान में आते ही पुलिस अधिकारियों ने जांच करने की बात कही है.

दूसरी तरफ, स्कूल प्रशासन इस पूरे मामले को लेकर चुप्पी साधे हुए है. खबर है कि यह स्कूल एक अल्पसंख्यक समुदाय चलाता है और यही वजह है कि स्कूल न तो शिक्षा विभाग और न ही जिल प्रशासन के किसी भी आदेशों का पालन करता है. वहीं सूत्रों के हवाले से खबर आई है कि अपने बच्चों के भविष्य की चिंता करते परिजनों ने इस मामले में आगे कार्रवाई नहीं बढ़ाने का फैसला लिया है.

शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी को अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम की धमकी, मौलानाओं से नहीं मांगी माफी तो धमाके से उड़ा देंगे

मध्य प्रदेश: समान काम के लिए समान वेतन की मांग के साथ शिक्षक-शिक्षिकाओं ने मुंडवाया सिर