पटना. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य में शराब पर पाबंदी को लेकर बड़ा ऐलान किया है. नीतीश कुमार ने विभागीय अधिकारियों के साथ एक उच्च स्तरीय बैठक में कहा है कि अगले साल 1 अप्रेल से प्रदेश में शराब पर पाबंदी लगा दी जाए.
 
सीएम नीतीश कुमार ने मोबाइल से शराबबंदी का संकल्प जारी किया है. शराबबंदी को लेकर उनका कहना है कि गरीब लोग शराब पीने के चक्कर में अपने परिवार को बर्बाद कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों की हरकतों की वजह से बच्चों की पढ़ाई भी बर्बाद हो रही है.
 
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि शराब पीने से सबसे ज्यादा परेशानियां महिलाओं को झेलनी पड़ती है, जिसके बाद घर में कलाह की स्थिति बन जाती है.
 
उन्होंने ने कहा कि अपराध बढ़ने में शराब का अहम रोल देखा गया है. सीएम ने राज्य की जनता से शराब ना पीने की अपील भी की है.
 
बता दें कि बिहार में उत्पाद और मघ निषेघ विभाग से सरकार को हर साल 3500 करोड़ रूपए का राजस्व मिलता है. सीएम के इस फैसले का बीजेपी और सीपीआईएमएल ने स्वागत किया है.
 
विधानसभा चुनाव से पहले किया था वादा
 
बिहार में विधानसभा चुनाव से पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा था कि अगर आगामी विधानसभा चुनाव में जनता ने उन्हें दोबारा सत्ता दिलाई तो पूरे राज्य में शराब पर प्रतिबंध लगाया जाएगा.