नई दिल्ली. हाई प्रोफाइल शीना बोरा हत्याकांड में सीबीआई स्टार इंडिया के पूर्व सीईओ पीटर मुखर्जी की पुलिस हिरासत को बढ़ाने की मांग करेगाी. सूत्रों ने कहा कि पीटर की रिमांड जरूरी है, क्योंकि वह गोलमोल जवाब दे रहे हैं और एजेंसी के साथ सहयोग नहीं कर रहे हैं.
 
सीबीआई के एक अधिकारी ने पहचान जाहिर न करने की शर्त पर कहा, “जांच में वह सहयोग नहीं कर रहे हैं और ऐसा लगता है कि वह भी साजिश का हिस्सा थे. हम पीटर की हिरासत को बढ़ाने की मांग करेंगे.” पीटर को मंगलवार को दिल्ली लाया गया और वित्तीय सौदों को लेकर एजेंसी उनसे सवाल करेगी, जो संभवत: हत्याकांड की वजह हो सकती है. एजेंसी पीटर मुखर्जी और उनकी पत्नी इंद्राणी मुखर्जी के ज्वाइंट खातों की भी पड़ताल कर रही है.
 
उनके पैसे एचडीएफसी, बार्कले और कोटक महिंद्रा सहित कई बैंकों में जमा हैं, जिनकी जांच हो रही है. एजेंसी ने इंद्राणी व पीटर के बैंक खातों की पहचान की है, जिसमें पाया गया कि इंद्राणी ने कई फिक्स्ड डिपॉजिट कर रखे हैं. 
 
दिलचस्प बात यह है कि इंद्राणी ने एक खाते में 80 लाख रुपए का फिक्स्ड डिपॉजिट कर रखा है और इस खाते को उन्होंने शीना की हत्या के बाद खोला था. पीटर के बेटे राहुल भी नई दिल्ली में हैं और पुलिस उन्हें दो बार पूछताछ के लिए बुला चुकी है.