मैनपुरी. उत्तर प्रदेश के वरिष्ठ मंत्री मुहम्मद आजम खां ने सपा से निष्कासित नेता अमर सिंह पर हमले जारी रखते हुए कहा कि जब तूफान आता है तो ‘कूड़ा-करकट’ भी साथ आ जाता है. आजम ने कल सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव के जन्मदिन कार्यक्रम में शिरकत के बाद सैंफई से लौटते वक्त बातचीत में अमर सिंह की सपा में वापसी की अटकलों के बारे में पूछे जाने पर कहा, ”जब तूफान आता है तो कूड़ा-करकट भी आ जाता है. मुझे इस सवाल पर इससे ज्यादा कुछ नहीं कहना है.”
 
सपा मुखिया के जन्मदिन समारोह का केक समय से पहले काटे जाने के बारे में पूछने पर आजम ने कहा, ”यह मेरे खिलाफ साजिश है. मैंने नेताजी की सालगिरह आधी रात को सही वक्त पर केक काटकर मनाया था.”
 
मालूम हो कि अमर सिंह और आजम खां के आपसी रिश्ते काफी तल्ख हैं. कल रात सैफई में सपा मुखिया के जन्मदिन का केक काटे जाते वक्त असर सिंह मुलायम के साथ मंच पर थे, जबकि आजम मुख्य कार्यक्रम के काफी देर बाद पहुंचे. सपा प्रमुख ने सिंह को अपने हाथों से केक खिलाया.
 
कार्यक्रम के दौरान, जब अमर से आजम की अनुपस्थिति के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा, ”कौन कह रहा है कि वह यहां नहीं हैं? मैंने खुद उन्हें देखा है और वह मुख्यमंत्री के साथ अभी गए हैं.” अमर ने कहा, ”मैं भले ही पार्टी में नहीं हूं, मैं मुलायम के दिल में हूं. मैं और कोई टिप्पणी नहीं करूंगा.” सिंह ने एक सवाल के जवाब में कहा, ”आजम मेरे मित्र हैं और मैं उनके खिलाफ कुछ नहीं कहूंगा.”
 
यहां तक कि मुलायम ने भी साफ किया कि आजम भी कार्यक्रम में मौजूद थे. उन्होंने कहा, ”वह मेरे जन्मदिन की पार्टी में कैसे अनुपस्थित हो सकते हैं.”