बीजिंग. आतंकवादी समूह इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने एक चीनी और नॉर्वेवासी बंधकों की हत्या कर दी है और उनकी फोटो भी दिखाई है. यब खबर सुनकर चीन स्तब्ध है में है.  चीन के विदेश मंत्रालय ने मारे गए व्यक्ति को अपने देश का नागरिक होने की पुष्टि की है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता होंग ले ने कहा, “चीन इस खबर को सुनकर गहरे सदमें में है. हमारा एक आदमी सितंबर से आईएस के कब्जे में था. हमने उसे बचाने का प्रयास भी किया, लेकिन उसे मार दिया गया.”
 
आईएस ने इससे पहले सितंबर में चीन और नॉर्वे के नागरिक को बंधक बनाने की बात कही थी. आईएस की अंग्रेजी भाषा में प्रकाशित होने वाली पत्रिका ‘दाबिक’ में इन बंधकों की पहचान चीन के स्वतंत्र सलाहकार फैन जिंगहुई और नॉर्वे के ओल जोहान ग्रिम्सगार्ड ऑफ्टैड के रूप में इनकी उजागर की गई थी. हालांकि, आईएस ने इन दोनों का अपहरण कब और कहां से किया, इसका उल्लेख नहीं किया. 
 
चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने आतंकवादी गिरोह इस्लामिक स्टेट (आईएस) द्वारा चीन के एक बंधक की हत्या की कड़ी निंदा की और मृतक के परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की. शी ने यहां 23वें एशिया प्रशांत आर्थिक सहयोग सम्मेलन के नेताओं की बैठक से इतर आतंकवाद को मानवता का दुश्मन करार दिया. उन्होंने कहा, “आतंकवाद मानवता का दुश्मन है. चीन हर तरह के आतंकवाद का विरोध करता है.” चीन ने इससे पहले आईएस द्वारा फैन जिंगहुई नामक एक चीनी नागरिक की हत्या की पुष्टि की, जिसे आईएस ने बंधक बना लिया था. चीन ने दोषी को दंडित करने की बात भी कही.