टोरंटो. फ्रांस की राजधानी पेरिस में हुए आतंकी हमलों  के बाद पुलिस हमलावरों से लिंक रखने वाले लोगों की तेजी से तलाश कर रही है. इन्हीं खबरों पर स्पेन के अखबारों में कनाडा के एक सिख को पेरिस अटैक में शामिल आतंकी बता दिया. इसमें कैप्शन दिया गया, ”पेरिस के हमलावरों में शामिल एक आतंकी”. हालांकि, बाद में अखबार को जैसे ही इस गलती का पता चला तो उसने माफी मांग ली.
 
दरअसल स्पेन के एक अखबार ‘लॉ रेजां’ ने शनिवार को कनाडा के रहने वाले सिख वीरेंदर जुबाल की तस्वीर छापी. अखबार ने आगे लिखा कि आतंकी तीन टीमें बनाकर फ्रांस में घुसे. इनमें से एक सीरियन रिफ्यूजी के तौर पर तुर्की पहुंचा था. आतंकियों की उम्र 15 से 18 साल के बीच है. ये सब वीरेंदर की तस्वीर के साथ छेड़छाड़ कर उसे छापा गया. 
 
तस्वीर में वीरेंदर हाथ में एक रिलिजियस बुक पकड़े हुए हैं और उनके शरीर पर सुसाइड जैकेट नजर आती है. वीरेंदर के जिस ओरिजिनल फोटो से छेड़छाड़ की गई है उसमें वो हाथों में अपना आईपैड थामे नजर आ रहे हैं. इसी तस्वीर को बदलकर बिल्कुल दूसरा रूप दे दिया गया.
 
जैसे ही वीरेंदर की यह तस्वीर वायरल हुई तो उन्होने अपनी ओरिजिनल फोटो सोशल साइट्स पर डालीं. जुबाल ने लिखा कि उनका पेरिस आतंकी हमलों से कुछ भी लेना-देना नहीं है.
 
अखबार ने भी अपने संडे एडिशन में जुबाल से माफी मांगी. हालांकि अब तक यह पता नहीं लग सका है कि जुबाल के इस फोटो से छेड़छाड़ किसने की और उसका मकसद क्या था?