शिमला. हिमाचल के कुल्लू जिले के कोटला गांव में भीषण आग लग जाने से 200 से ज्यादा घर और एक मंदिर जलकर राख हो गए हैं. अधिकारियों ने बताया कि 476 लोगों की आबादी वाले कोटला गांव में 200 से ज्यादा घर जल गए हैं, साथ ही एक प्राचीन मंदीर भी जलकर राख हो गया है. इनमें अनुसूचित जाति के 24 से अधिक घर भी शामिल हैं.
 
उन्होंने कहा कि आग का कारण का अभी पता नहीं चल सका है. काफी उंची लपटें उठने के कारण आसपास के मकानों में बचाव कार्य चलाने में दिक्कत आ रही हैं. उन्होंने बताया कि यहां सबसे पहले एक मकान में आग लगी थी, फिर जल्दी ही गांव के अन्य घरों में फैल गयी क्योंकि यहां अधिकतर घर लकड़ी के बने हुए हैं.
 
कोटला गांव के निवासी डोला सिंह महंत ने कहा कि गांव में धीरे-धीरे आग लगने के बाद स्थानीय और आसपास के गांवों के लोग घरों को खाली करने में मदद कर रहे हैं. आग एक घर से दूसरे घर में फैल रही है. 
 
बंजर के एसडीएम अश्विनी कुमार ने कहा कि घटनास्थल पर राहत एवं बचाव दल भेजे गए हैं और अभी तक किसी व्यक्ति या मवेशी के हताहत होने की खबर नहीं है. जिला प्रशासन ने प्रभावित लोगों को अस्थायी आश्रय और अन्य आवश्यक वस्तुएं मुहैया कराने के लिए राहत दलों को निर्देश दिए है.