मियामी. क्या आपने कभी सुना है कि सिर्फ रोने की वजह से कोई किसी की जान ले सकता है, अगर नहीं तो इस खबर को पढकर आप कभी अपने बच्चों को किसी के पास अकेला छोड़कर नहीं जाएंगे. 
 
मियामी में एक आठ साल के लड़के ने एक साल की बच्ची को सिर्फ इसलिए पीट-पीट कर मार डाला क्यों कि वो उसे चुप नहीं करा पाया. जिस वक्त ये हादसा हुआ उस वक्त बच्ची की मां एक नाइट क्लब में पार्टी कर रही थी. 
 
कुछ ऐसा हुआ था बच्ची के साथ
जानकारी के मुताबिक मां कटेरा लुईस पार्टी में जाने के लिए अपनी बच्ची को एक दोस्त के घर छोड़ने आई, जहां पर पहले से 2 से 8 साल तक के  5 और बच्चे मौजुद थे. पुलिस के मुताबिक  8 साल के बच्चे ने उस पर इसलिए हमला कर दिया क्योंकि वह उसे रोने से चुप नहीं करा पा रहा था. काफी चौटें आने के बाद लड़की को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया लेकिन रिक्वरी न होने की वजह से बच्ची ने  दम तौड़ दिया. 
 
मां को जमानत पर छोड़ा
बच्ची की मां लुईस के खिलाफ लापरवाही के चलते मैनस्लॉटर का केस दर्ज किया गया है जिसमें हत्या का मामला दर्ज किया गया है. हालांकि उन्हें जमानत पर फिलहाल छोड़ दिया गया है.
 
खबरों की माने तो आरोपी बच्चे को जुवेनाइल कोर्ट में सुनवाई के बाद जेल भी हो सकती है जिसमें 21 साल की उम्र तक उसे जेल में ही रखा जाएगा. घटना पर बर्मिंघम पुलिस लेफ्टिनेंट सीन एडवर्ड्स का कहना है कि 22 से भी ज्यादा के करियर में सबसे दुर्भागयशाली केस देखा है.