नई दिल्ली. बांग्लादेश की विवादित लेखिका तसलीमा नसरीन ने पेरिस अटैक के पीछे इस्लामिक स्टेट(आईएसआईएस) के हाथ होने पर लिखा कि इस्लाम के नाम पर बच्चों का ब्रेन वॉश बंद होना चाहिए. बच्चों को मदरसा और मस्जिद में भी नहीं भेजना चाहिए. इंटरनेट पर इस्लामी साइट्‍स पर रोक लगना चाहिए. 
 
उन्होने पेरिस अटैक पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा, ‘7वीं सदी का इस्लाम 21वीं सदी में देखने को मिल रहा है.’
 
 
फ्रांस की राजधानी पेरिस में आतंकियों ने शनिवार सुबह सात अलग-अलग जगहों पर हमला किया. राजधानी में जमकर फायरिंग और सीरियल ब्लास्ट हुए. अब तक 150 से ज्यादा लोगों के मारे जाने की खबर है और सैकड़ों घायल भी बताए जा रहे हैं. फ्रांस के कमांडो ने आठ आतंकियों को मार गिराया है और एक गिरफ्तार कर लिया गया है.  
 
बता दें कि आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट अक्सर किसी भी बड़ी घटना को अंजाम देने के बाद उससे संबंधित वीडियो और फुटेज इंटरनेट पर जारी करता है. यह संगठन उस समय इंटरनेट पर सबसे ज्यादा प्रसिद्ध हुआ जब इन्होंने एक ब्रिटिश नागरिक का सिर कलम करने वाला वीडियो इंटरनेट पर डाला था.